Computer Operating System Kya Hai – कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है ?

By | September 11, 2021

Computer Operating System :- नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप आज हम आपको कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में पूरी जानकारी देंगे दोस्तों बने रहिए आप आर्टिकल के साथ।

ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर का एक बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण भाग होता है अगर हम किसी कंप्यूटर को सुचारू रूप से चलाना चाहते हैं तो हमें ऑपरेटिंग सिस्टम की जरूरत पड़ती है क्योंकि ऑपरेटिंग सिस्टम के बिना कोई भी कंप्यूटर सुचारू रूप से नहीं चल सकता है कंप्यूटर में जितने भी आदेश दिए जाते हैं वह सब इसी ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा दिए जाते हैं कंप्यूटर में जितने भी प्रोग्राम शुरू किया जाते हैं वह सभी ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से ही शुरू होते हैं दोस्तों अगर बात ऑपरेटिंग सिस्टम भी करे तो आपरेटिंग सिस्टम कई सारे पाए जाते हैं लेकिन इनमें से कुछ ऑपरेटिंग सिस्टम है जो सबसे प्रमुख को सबसे ज्यादा उपयोग किए जाते हैं एमएस डॉस और विंडोज आधारित ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 95 एंड विंडोज 98 इसी के साथ में इसका लेटेस्ट वर्जन विंडोज 2000 दोस्तों अगर हम बात इनमें से सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम की करें तो windows10 सबसे ज्यादा पॉपुलर है ।

 

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या काम करता है ?

ऑपरेटिंग सिस्टम को विभिन्न कामों के लिए इस्तेमाल किया जाता है ।

  • मेमोरी मैनेजमेंट और यूजर प्रोग्राम और डाटा को मुख्य मेमोरी में स्टोर करने के लिए ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल होता है ।
  • यह विभिन्न इरर संदेशों का भी निर्माण करता है ।
  • एप्लीकेशन इंटरफेस के द्वारा लगातार एप्लीकेशन इंटरफ़ेस उपलब्ध कराया जाता है जिसकी सहायता से एप्लीकेशन हार्डवेयर के साथ कार्य करता है ।
  • सिस्टम की सुरक्षा इसके द्वारा यूजर को कुछ अधिकार प्राप्त कराए जाते हैं उसके बाद पासवर्ड का प्रयोग करके यूजर इनका इस्तेमाल कर सकता है ।
  • प्रोसेस को कंट्रोल करना इसके द्वारा हर एप्लीकेशन को स्रोत प्राप्त कराया जाता है जब दूसरे तो क्या हम भी चलते रहे ‌।

 

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार

दोस्तों ऑपरेटिंग सिस्टम कई प्रकार के होते हैं इनमें से सभी का काम अलग अलग होता है इनके अलग-अलग कामों के लिए इनको अलग-अलग कैटेगरी में रखा जाता है क्योंकि अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग Computer Operating System की जरूरत होती है नीचे हम आपको प्रमुख ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में बता रहे हैं ।

सिंगल यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

दोस्तों इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग एक समय में केवल एक ही कंप्यूटर पर किया जा सकता है आफिस में जितने और कंप्यूटर होते हैं हर कंप्यूटर के लिए अलग-अलग ऑपरेटिंग सिस्टम में जरूरत होती है एमएस डॉस विंडोज 95 विंडोज 98 इत्यादि इसी के अंतर्गत आते हैं ।

मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम

अगर हमें एक समय में 1 से अधिक कंप्यूटर पर ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करना है तब हम मल्टी यूजर ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल करते हैं इसको एक बार में एक से अधिक कंप्यूटर पर इस्तेमाल किया जाता है इस ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करते समय एक से अधिक प्रयोगकर्ता सीपीयू का प्रयोग कर सकते हैं ।

मल्टीटास्किंग ऑपरेटिंग सिस्टम

इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम में एक से अधिक प्रोग्राम को चलाने की एक अलग क्षमता होती है इसके अंदर प्रोग्राम इस प्रकार से व्यवस्थित किया जाते हैं कि उसको अपने हिस्से का समय मिलता रहे ।

रियलटाइम ऑपरेटिंग सिस्टम

रियल टाइम ऑपरेटिंग सिस्टम द्वारा दूरदराज के स्थानों से आने वाली समस्याओं को एक-एक करके पूछ कर उत्तर दिया जाता है ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर में डाटा को चेक करके उचित उत्तर भेजने का काम करता है इस प्रकार के सिस्टम जितने भी होते हैं सभी डायनामिक होते हैं ।

नेटवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम

इस सिस्टम में सारे कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा आपस में जुड़े होते हैं जैसे हर वर्क स्टेशन पर अपना कंप्यूटर का आपस में जुड़े कंप्यूटर प्रिंटर और सिस्टम के डिस्क ड्राइव प्रोग्राम को साझा इस्तेमाल कर सकते हैं ।

साझा समय ऑपरेटिंग सिस्टम ।

इस सिस्टम में मेन कंप्यूटर क‍ा सर्वर से टर्मिनल का सीधा संपर्क हो जाता है ऑपरेटिंग सिस्टम हर प्रोग्राम के लिए अलग-अलग समय निर्धारित करता है जो जीरो से लेकर 100 मिली सेकंड के बीच में होता है ।

 

एमएस डॉस

इसका पूरा मतलब डिस्क Computer Operating System होता है इसका प्रयोग छोटे अथवा बड़े हर प्रकार के कंप्यूटर के लिए किया जा सकता है इसको सबसे पहले आईबीएम कंपनी के पर्सनल कंप्यूटरों के लिए माइक्रोसॉफ्ट ने बनाया था ।

अगर हम अन्य काम भी कुछ कराना चाहे तो हम एमएस डॉस को आदेश देकर आसानी से करवा सकते हैं अगर हम चाहे तो इस में नई फाइल बना सकते हैं पुरानी फाइल में से कुछ फाइलों को हटा भी सकते हैं जो आपकी प्रोफाइल का बैकअप भी ले सकते हैं अगर अब यह सब काम करना चाहते हैं तो इसके लिए एमएस डास को आदेश दिए जाते हैं जिन्हें डास आदेश कमांड कहां जाता है हर काम के लिए अलग कमांड देना पड़ता है एमएस डॉस में आदेश दो प्रकार के होते हैं इंटरनल कमांड एंड एक्सटर्नल कमांड ।

 

Operating system Windows 95

दोस्तों अगर हम तो उसका इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए हमें बहुत सारे कमांड को याद रखना पड़ता है जो सभी के लिए बहुत मुश्किल होता है लोगों की इसी समस्या को दूर करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट कारपोरेशन ऑपरेटिंग सिस्टम लगातार शोध करती रही और इस पर कई सारे बदलाव किया बदलाव के बाद आज अब परिणाम के रूप में हमारे सामने विंडोस की सीरीज मार्केट में आई है यह भी उसी सीरीज का एक ऑपरेटिंग सिस्टम है ।

 

ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 98

इसका प्रयोग सबसे ज्यादा पर्सनल कंप्यूटर में होता है पर्सनल कंप्यूटर के लिए यह सबसे ज्यादा पॉपुलर ऑपरेटिंग सिस्टम है इस ऑपरेटिंग सिस्टम को 1995 ईस्वी में अमेरिका की माइक्रोसॉफ्ट कंपनी द्वारा बनाया गया था इसीलिए इसका जो पहला वर्जन आया था उसका नाम विंडोज 95 था विंडोज 98 उसी का एक अपडेट वर्जन है ।

 

विंडोज 2000

इस प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग सबसे ज्यादा उनके द्वारा किया जाता है जो कोई भी छोटा या बड़ा व्यवसाय करते हैं इसका उपयोग नेटवर्क सर्वर फाइल प्रिंट इंटरनेट तथा एप्लीकेशन सरवर के रूप में किया जाता है ।

दोस्तों यह आपके लिए Computer Operating System से संबंधित जानकारी दीजिए इसमें हमने आपको कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम और उसके सभी प्रकारों के बारे में बताइए आशा करते हैं बाजीगर जानकारी संतोष होगी ऐसे ही और जानकारी पाने के लिए हमारे साथ बने रहे बहुत-बहुत धन्यवाद

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.